विश्व थायरॉइड दिवस वर्ष में 25 मई को मनाया जाता है। इस दिन थायरॉइड समस्याओं के बारे में जागरूकता फैलाने का प्रयास किया जाता है।

थायरॉइड ग्रंथि शरीर में एक महत्वपूर्ण ग्रंथि है जो थायरॉइड हार्मोन निर्माण करती है। इसे गले के नीचे स्थित गलगंग द्वारा संचालित किया जाता है।

आयोडीन थायरॉइड हार्मोन के निर्माण के लिए आवश्यक होता है। अगर आपके आहार में आयोडीन की कमी होती है, तो यह थायरॉइड समस्याओं का कारण बन सकती है।

थायरॉइड हार्मोन शरीर के मेटाबॉलिक गतिविधियों को नियंत्रित करते हैं, जिनमें भोजन के पचने, ऊर्जा उत्पादन, वजन नियंत्रण, और अवसाद का नियंत्रण शामिल है।

 ज्यादातर थायरॉइड समस्याएं महिलाओं में पायी जाती हैं, और यह साधारणतया 20 और 50 वर्ष की आयु के बीच होती है।

हाइपरथायरॉइडिज्म के लक्षण में दिल की धड़कन तेज होना, गंभीरता, गर्मी झेलने की क्षमता में कमी, और हाथों की कम्पन हो सकती है।

हाइपोथायरॉइडिज्म के लक्षण में थकान, मोटापा, स्तनों का विकास, और मासिक धर्म की असामान्यता शामिल हो सकती है।

World Thyroid Day

Read Full Article